डिप्रेशन(अवसाद),नींद ना आना,नींद में भयभीत होना,मानसिक तनाव की वजह से नींद में बार बार उठ जाने की समस्या का आजमाया हुआ और अचूक उपाय।

अगर आप या कोई और जो आपका नजदीकी या परिचित हो उन्हें डिप्रेशन की वजह से नींद ना आना या नींद का बार बार टूटना,नींद में भयभीत होकर उठ जाना,सोने के वक़्त अकारण भय होना इस तरह की सभी समस्याओ का एक अचूक और सिध्द किया हुआ उपाय आप इस पोस्ट द्वारा प्राप्त कर सकते है।

इस सिध्द उपाय के लिए आपको एक हल्दी की गाँठ लेनी है,उसे किसी भी लाल धागे या हाथ में बाँधने वाली मौली धागे का उपयोग करते हुए हल्दी की गाँठ को बांधते हुए माला बना लेनी है,ध्यान रहे माला की साइज इतनी होनी चाहिए कि वो आपके सिर के ऊपर से होते हुए आराम से आपके गले में धारण हो जाये।

  • और अब रात को सोते वक़्त आपको ये माला को धारण करके सोना है,साथ में सबसे महत्वपूर्ण आपको अपने सोने के नजदीक में स्वच्छ स्थान देते हुए “श्रीमद्‍भगवद्‍गीता”(छोटे आकार में) को रखना है, आप चाहे तो छोटे आकार की “हनुमान चालीसा” भी रख सकते है। जब सुबह नींद से जागे तब ये हल्दी की माला और ग्रन्थ आपके घर में बने पूजा स्थल पर रख दे,रोजाना यही प्रक्रिया से करे, सात से तीस दिन में आपको मानसिक तनाव द्वारा या अन्य कारण से नींद ना आने की समस्या से मुक्ति प्राप्ति का अनुभव प्राप्त होगा,जब पूर्ण रूप से आप इस समस्या से बाहर आ जाये तो आप ये उपाय का प्रयोग बंद कर सकते है और भविष्य में अगर नींद संबंधित समस्या का अनुभव फिर से लगे तो आप इसी प्रयोग द्वारा नींद की समस्या का उपाय कर सकते है,इस उपाय की शुरुआत आपको सोमवार या मंगलवार के दिन से करनी है। ये उपाय पूर्ण रूप से आजमाया हुआ सिध्द उपाय है,इसका लाभ सभी को प्राप्त हो यही एकमात्र उद्देश्य है और सबसे महत्वपूर्ण आपको इस प्रयोग द्व्रारा लाभ मिलने पर नीचे कमेंट करना बिलकुल ना भूले।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *